इजराइल की 10% आक्रमकता भारत में आ जाए तो हर आतंकी भारत से कांप उठेगा.

इजराइल की 10% आक्रमकता भारत में आ जाए तो  हर आतंकी भारत से कांप उठेगा.

इजराइल की 10% आक्रमकता भारत में आ जाए तो हर आतंकी भारत से कांप उठेगा.

अगर सिर्फ इजराइल की 10% आक्रमकता भारत में आ जाए तो पाकिस्तान क्या दुनिया का हर आतंकी भारत से कांप उठेगा. इजराइल एक बहुत छोटा देश है जिसकी आबादी करीब 8000000 यहूदियों की है लेकिन इस छोटे से देश से कई इस्लामी देश खौफ खाते हैं आतंकवादी संगठन आईएसआईएस का पूरे अरब देशों में आतंक है और वह बेरहमी से लोगों का कत्लेआम कर रहा है लेकिन अब तक उसने इस्राइल में एक भी गोली नहीं चलाई है जबकि इजराइल सीरियल का पड़ोसी देश है और एक भी इजराइल के नागरिक को छुआ भी नहीं गया है क्योंकि उनको पता है जहां उन्होंने इसराइल को थोड़ा भी छेड़ा तो या तो इजराइल की ओर से मिसाइल दागी जाएगी या फिर इजराइल आर्मी उन पर अटैक कर देगी आपको बता दें कि इजरायल की इस आक्रमकता और कार्यवाही के कारण कई बार मानवाधिकार के सवाल भी उठते रहते हैं लेकिन बहुत ही कम की है जब हिटलर से जान बचाकर यहूदी लोग इजरायल पहुंचे थे और इजराइल बनाया था तब अरब के मुसलमानों ने पहली बार इजराइल पर 1948 में हमला किया था उस समय इजराइल बना ही था ना कोई बड़ी सेना और ना ही गोला बारूद था लेकिन फिर भी इजराइल ने अरब को 1948 में अपनी वीरता और साहस के कारण बड़े आसानी से हरा दिया तब से लेकर अब तक अरब देशों ने छह बार इजराइल से युद्ध लड़ा है और हर बार इजराइल ने मुस्लिम देशों को हराया है इसी बात को अगर आंकड़ों की नजर से देखें तो 1948 से अब तक अरब इजरायल युद्ध में इजराइल के लगभग 22000 सैनिक शहीद हुए हैं और वही मुस्लिम देशों की 91000 से ज्यादा सैनिक मारे गए हैं इजराइल एक ऐसा देश है जो अपने चारों तरफ मुस्लिम देशों से घिरा हुआ है फिर भी किसी संगठन की हिम्मत नहीं है कि वह इजराइल को छुवे.

TheWestern Volunteer

leave a comment

Create Account



Log In Your Account