ड्रग माफियाओं पर पुलिस का शिकंजा

ड्रग माफियाओं पर पुलिस का शिकंजा

ड्रग माफियाओं पर पुलिस का शिकंजा

लाखों का ड्रग बरामद, स्थानीय अपराध शाखा ने आरोपियों को बैंगलोर से किया गिरफ्तार 

आशु विश्वकर्मा / पालघर :- पालघर पुलिस अधीक्षक के मार्गदर्शन में स्थानिक अपराध शाखा की टीम द्वारा ड्रग माफियाओं पर कार्रवाई की गयी जिसमे लाखों रुपए का ड्रग बरामद किया गया है। मामले में कार्यवाई के दौरान स्थानीय अपराध शाखा की टीम ने बैंगलोर से तीन ड्रग माफियाओं को भी गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपियों को ड्रग तस्करी के आरोप में भारतीय दंड संहिता 1985 के अंतर्गत आने वाली धारा

9(क), 25(अ),27(अ), 29 के तहत मामला दर्ज कर आगे की जांच कर रही है।

मिली जानकारी के अनुसार पूरे पालघर जिले में ड्रग माफियाओं द्वारा नशीले पदार्थों का करोड़ो में व्यापार किया जाता है। जिले में यह माफिया खाश कर युवा पीढ़ी को अपना शिकार बना रहे हैं, इसके साथ ही स्कूल-कॉलज, पर्यटन स्थल में अधिकतर इस प्रकार का कारोबार किया जा रहा है।

मामले को गंभीरता से लेते हुए पालघर जिले के पुलिस अधिक्षक मंजुनाथ सिंगे के मार्गदर्शन में सहायक पुलिस निरीक्षक प्रशांत लांगी, सहायक पुलिस उपनिरीक्षक महादेव वेदपाठक, पुलिस हवलदार प्रदीप पवार, मोरे, वलवी, पुलिस नाईक सचिन दोरकर और पुलिस सिपाही अमोल कोरे आदि की एक टीम गठित की गई थी। टीम ने ३ नवंबर २०१७ को तालसरी पुलिस स्टेशन अंतर्गत दुग्ध परियोजना के फॉर्म हाऊस में एक फॉर्च्यूनर गाड़ी सहित ५.२५०किलो और  २४.६९० किलो का आयसोसॉफरॉल नामक ड्रग्स और उसके प्रयोग में लगने वाले उपकरण, बुक, दो मशीन व अन्य सामग्री सहित कुल ४० करोड़ का माल बरामद हुआ। मामले में अपराध शाखा को फैय्याज अहमद रसूल शेख और उसके दो साथियो के संलिप्त होने की जानकारी मिली| ड्रग्स सप्लाई का मुख्य सूत्रधार फैय्याज शेख अपने परिवार से मोबाइल पर नेट कॉलिंग का उपयोग करता है, जिसको पकड़ने के लिए २७ दिसंबर, २०१७ को पालघर स्थानिक अपराध शाखा, पालघर की पुलिस टीम को बंगलोर के लिए रवाना किया गया| मामले की जानकारी मिलते ही बंगलोर की स्थानिक अपराध शाखा ने भी फैय्याज की तलाश के लिए छानबीन शुरू कर दी। रात की कड़ी मेहनत के बाद भी प्रमुख आरोपी फैय्याज शेख की कोई जानकारी नहीं मिल सकी| पालघर स्थानीय अपराध शाखा की टीम को अन्तोगत्वा सफलता मिल ही गयी| २२ जनवरी २०१८ को बंगलोर क्षेत्र में ड्रग्स का प्रमुख सूत्रधार अपने साथी साजिद शेख के साथ एक सेंट्रो कार में जाते हुए पुलिस को दिखाई दिया, उसी समय टीम द्वारा आरोपी फैय्याज का पीछा कर अगले सिग्नल पर धर दबोचा गया।

इसी तरह से पालघर पुलिस अधीक्षक सिंगे और अप्पर पुलिस अधीक्षक राज तिलक रोशन के मार्गदर्शन में नालासोपारा और विरार पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक के नेतृत्व में २४ जनवरी को नालासोपारा पश्चिम अंतर्गत स्थित हनुमान नगर में एक व्यक्ति द्वारा ड्रग्स सप्लाई करने के लिए आने की पुलिस टीम को सूचना दी गयी| सूचना के आधार पर सहायक पुलिस निरीक्षक शिवराम तुगावे द्वारा पुरे क्षेत्र में पुलिस टीम एक जाल बिछाया गया| इसी बीच पुलिस को सिरकी लासमेन डुमैया, द्वारिका , पश्चिम दिल्ली के रहने वालों को संदिग्ध अवस्था पाया गया| तुगावे की टीम द्वारा उसकी तलाशी ली गयी तो ३१० ग्राम मॅफीड्रीन नामक ड्रग्स (एमडी) बरामद किया गया| पुलिस के अनुसार डुमैया से बरामद ड्रग्स का बाजार मूल्य ६,००,००० रुपये के आसपास आंकी गयी है| पुलिस ने एनडीपीएस की धारा १९८५ के तहत ८(क), २० के तहत मामला दर्ज किया है| मामले की छानबीन पुलिस उपनिरीक्षक महेश चव्हाण कर रहे है|

TheWestern Volunteer

leave a comment

Create Account



Log In Your Account