नालासोपारा में पानी टैंकर का आतंक-पुलिस लाठीचार्ज लाठीचार्ज में मृतक व्यक्ति की मासूम लड़की भी हुई शिकार

नालासोपारा (Ashu Viswakarma) : गुरुवार को गणपति पर्व के पहले ही दिन खुशियों की सौगात की कामना लिए एक युवक गणपति की मूर्ति लाने गया और घर आयी उसकी शव। उक्त नालासोपारा पूर्व धानिवबाग की है, जब कमलेश बिंद ( 35 ) नाम का यह युवक घर के पास स्थित मूर्तिकार के यहां से गणेश की प्रतिमा लाने अपने बच्चे व अन्य लोगो के साथ गए थे। इसी दौरान पास से गुजर रहे टैंकर को रास्ता देने के साथ जैसे ही उनका काफिला आगे बढ़ता है,तभी टैंकर चालक की चपेट व्यक्ति आ गया जिसकी है जिसे अस्पताल में पहुचाया गया जहा डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। चालक की लापरवाही ने एक परिवार के मुखिया की जान ले ली,जिससे 3 बच्चों के साथ उसकी पत्नी अनाथ हो गए। मृतक उसी क्षेत्र में एक छोटी सी दुकान चलाकर अपने परिवार का भरण पोषण करता था। घटना से गुस्साए लोगों ने टैंकर से हुए मौत पर न्याय की मांग करते हुए रास्ता रोको आंदोलन द्वारा कर दी। उसी दौरान राहचलते कुछ उपद्रवी तत्वों ने मौके पर तोड़फोड़ शुरु कर दी। इस बीच रास्ता जाम होने से वाहनों की लंबी कतारे लगनी शुरू हो गयी। तभी मौके पर उपस्थित पुलिसकर्मियों ने लाठीचार्ज कर लोगों को खदेड़ना शुरू कर दिया। इस दौरान पुलिसकर्मियों ने यह नही देखा कि क्या बच्चे और क्या महिलाएं जो मिला उसे बदहवास होकर खदेड़ना आरम्भ कर दिया, जिसके चलते मृतक की पत्नी,छोटे बच्चे के साथ ही कई अन्य महिलाएं भी चोटिल हो गयी।

वायलर वीडियो के अनुसार : उक्त घटना को लेकर गुरुवार स्थानीय लोग व मृतक के परिजन ने नालासोपारा पुर्व के धानिव बाग इलाके में चक्का जाम आंदोलन किया था,इसी बीच भीड़ और लोगो के आंदोलन को खत्म करने के लिए पहुची पुलिस ने लोगो पर लाठी चार्ज कर दिया,लाठीचार्ज की जो तस्वीर सामने आई है

 वो बेहद हैरान करने वाली है,क्योंकि पुलिस ने लोगो को दौड़ा दौड़ाकर मारा,,यही नही जिस तरह से पुलिस के लाठीचार्ज के चलते लोगो की भीड़ बेकाबू हुई उससे दूसरा कोई बड़ा हादसा भी हो सकता था ? जो लोग जमीन पर गिर पड़े थे उनपर भी पुलिस ने जमकर लाठियां भांजी, वही मृतक की पत्नी का रो रोकर बुरा हाल है। पुलिस के अनुसार लाठीचार्ज के पूर्व मृतक के परिजनो को पुलिस ने समझाया था। पुलिस की माने तो हादसे के बाद लगभग 2 घण्टे के बाद रास्तो रोको आंदोलन किया गया।

पालघर जिले के तत्कालीन पुलिस अधीक्षक मंजूनाथ सिंगे ने कहा कि पानी टेंकर समय को लेकर पत्र जिलाधिकारी कार्यालय को दिया गया था।

पालघर जिलाधिकारी डॉ. प्रशांत नारनवरे ने कहा कि पानी टैंकर समय तय को लेकर एसपी आफिस से पत्र आया था,उसकी हमे जानकारी नहीं है,जबसे मैं आया हूँ पानी टैंकर के बारे में कोई भी शिकायत नही मिली है,लेकिन ऐसी घटना हुई है तो पहले पुलिस अपराधिक कार्रवाई ट्रेंकर चालक पर करनी चाहिए, यदि एसपी आफिस से पानी टेंकर को लेकर कोई पत्र आया है तो हम उसके बारे में उचित कदम उठाने की बात कही गयी है।

पालघर एसपी गौरव सिंह ने कहा कि बेहद दुःख घटना है। चालक के खिलाफ सड़क दुर्घटना का मामला दर्ज कर चालक को गिरफ्तार किया गया,हालाकिं संबन्धित मामले की जांच बड़ी बारकी से की जा रही है।आई.जी.नवल बजाज ने कहा कि उक्त घटना को लेकर हम कोई जानकारी नही है।

वसई विधायक हितेन्द्र ठाकुर ने कहा कि मृतक परिवार के उपर लाठीचार्ज करना बिल्कुल गलत है,इसके लिए हम उच्च अधिकारी से बात करुगा,जिसके परिवर के साथ दुर्घटना हुई है,पुलिस विभाग को उस परिवार को अपनी संवेदना प्रकट करनी चाहिय था,उनके परिवार को प्यार से समझना चाहिए था।

भाजपा नालासोपारा शहर महासचिव मनोज बारोट ने कहा कि इस मौत के लिये अगर कोई जिम्मेदार हैं तो वो सिर्फ पुलिस प्रशासन और वसई विरार महानगर पालिका,लेकिन ऐसा बोलने से लोगो के दिमांग मे एक प्रश्न निर्माण होगा की एक्सीडेंट टैंकर से हुआ फिर पुलिस और मनपा क्यु जिम्मेदार ? बारोट ने कहा कि पुलिस इसलिए

 जिम्मेदार हैँ कि गत अनेक वर्षो से इन अनधिकृत टैंकर माफिया पर कार्रवाई की मांग की जा रही हैं,लेकिन बेखौफ टैंकर माफिया बेधड़क अपना धंधा शान से चला रहे हैं,इसलिये इस दुर्घटना के लिये पुलिस प्रशासन जिम्मेदार है, पुलिस प्रशासन को अवगत कराना चाहता हूँ कि वसई तालुका में गत पांच साल मे अनेक लोगो ने अपनी जान गवाई हैँ लेकिन इन माफियाओं को पुलिस का कोई डर नही हैँ। और मनपा इसलिये जिम्मेदार है क्योकि की आज वसई विरार क्षेत्र को चाहिये इतना पानी होते हुए भी लोगो को नही दिया जा रहा हैँ क्योंकि की ये सब टैंकर माफिया सत्ताधारी के ही लोग हैँ इसलिये मनपा पानी देंगी तो ये टैंकर माफिया भूखे मरेंगे इसलिये मनपा पानी ना देके इनको सहयोग कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.