अगस्ता वेस्टलैंड सौदे में बिचौलिये माइकल को भारत प्रत्यर्पित किया : सीबीआई

नयी दिल्ली:  अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर सौदे में कथित बिचौलिये क्रिश्चियन जेम्स माइकल को राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल के मार्गदर्शन में चल रहे एक अभियान के तहत भारत प्रत्यर्पित किया जा रहा है।

सीबीआई ने मंगलवार को यह जानकारी दी। दुबई से माइकल को लाने के इस अभियान में समन्वय सीबीआई के अंतरिम निदेशक एम नागेश्वर राव कर रहे हैं। एजेंसी के संयुक्त निदेशक साई मनोहर के नेतृत्व में अधिकारियों की एक टीम दुबई में है।
दुबई सरकार ने उसे प्रत्यर्पित करने की मंजूरी दे दी है। इससे पहले इस कदम के खिलाफ की गई उसकी अपील को अदालत ने खारिज कर दिया था।
माइकल (57) दुबई में अपनी गिरफ्तारी के बाद से जेल में है और उसे यूएई में कानूनी और न्यायिक कार्यवाही के लंबित रहने तक हिरासत में भेज दिया गया था।
दुबई कोर्ट ऑफ कैसेशन ने माइकल के वकील की ओर से दायर दो आपत्तियों को खारिज कर दिया है और भारत के सक्षम प्राधिकारियों को उसे प्रत्यर्पित करने की संभावना पर विचार करने के अपीलीय अदालत के फैसले को बरकरार रखा है।
सीबीआई के प्रवक्ता अभिषेक दयाल ने यहां बताया कि माइकल ने सह-आरोपियों के साथ मिलकर आपराधिक षडयंत्र रचा। इसके तहत लोक सेवकों ने वीवीआईपी हेलीकॉप्टर की ऊंचाई 6000 मीटर से घटाकर 4500 मीटर कर अपने सरकारी पद का दुरुपयोग किया। भारत सरकार ने आठ फरवरी 2010 को रक्षा मंत्रालय के जरिए ब्रिटेन की अगस्तावेस्टलैंड इंटरनेशनल लि को लगभग 55.62 करोड़ यूरो का ठेका दिया था।

उन्होंने कहा कि माइकल अगस्ता वेस्टलैंड मामले में भारत में आपराधिक कार्यवाही से बच रहा था। उसे यूएई से भारत प्रत्यर्पित किया जा रहा है। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार डोभाल के मार्गदर्शन में समूचे अभियान को सीबीआई के प्रभारी निदेशक राव समन्वित कर रहे हैं।