महाराष्ट्र नगरपरिषद चुनावों में बीजेपी जीती

महाराष्ट्र नगरपरिषद चुनावों में बीजेपी जीती

मुंबई : महाराष्ट्र के स्थानीय निकाय के चुनावों में बीजेपी ने जीत दर्ज की। छह नगरपरिषदों के चुनाव में से बीजेपी ने चार पर जीत हासिल की है और एक जगह बीजेपी समर्थित गठबंधन को जीत मिली है। कोकण की कणकवली नगरपालिका पर नारायण राणे की महाराष्ट्र स्वाभिमान पार्टी ने जीत दर्ज की है। हालांकि, नारायण राणे भी बीजेपी के ही साथ हैं, लेकिन दोनों पार्टियां चुनावी मैदान में एक-दूसरे के खिलाफ ताल ठोक रही थीं।

महाराष्ट्र में कुल 6 नगरपरिषदों के हुए चुनाव में से जलगांव जिले के जामनेर, औरंगाबाद जिले के वैजापुर और रत्नागिरी जिले के देवरूख नगरपरिषद में बीजेपी के नगराध्यक्ष विजयी हुए हैं। कोल्हापुर में आजरा नगरपरिषद में बीजेपी समर्थित आघाडी का उम्मीदवार नगराध्यक्ष चुना गया। नगरसेवकों के चुनाव में भी बीजेपी सबसे आगे है।
छह नगरपालिकाओं के कुल 116 नगरसेवकों में से 50 बीजेपी के चुनाव चिह्न पर विजयी हुए। बीजेपी अध्यक्ष रावसाहेब दानवे ने दावा किया कि आजरा नगरपालिका में विजयी आघाडी के 9 नगरसेवक भी बीजेपी कार्यकर्ता हैं।

जामनेर में चमके गिरीश महाजन
जलगांव की जमानेर नगरपरिषद की सभी 24 सीटों पर बीजेपी जीती है। यहां से मुख्यमंत्री के करीबी व राज्य के जलसंसाधन मंत्री गिरीश महाजन की पत्नी साधना महाजन नगराध्यक्ष पद की उम्मीदवार थीं। साधना ने एनसीपी की उम्मीदवार अंजना पवार को करीब 8,000 मतों के अंतर से पराजित किया। इस जीत के बाद महाजन का जलगांव जिले में राजनीतिक कद बढ़ गया है।

कणकवली में राणे की जीत
कणकवली नगरपालिका चुनाव में नारायण राणे की महाराष्ट्र स्वाभिमान पार्टी (एमसीपी) ने 17 सीटों में से 11 सीटों पर जीत दर्ज की। इस चुनाव की खास बात यह थी कि बीजेपी के टिकट पर राज्यसभा गए राणे ने कणकवली नगरपालिका चुनाव में एनसीपी के साथ गठबंधन कर चुनाव लड़ा। कणकवली में नगराध्यक्ष पद के चुनाव में महाराष्ट्र स्वाभिमान पार्टी के उम्मीदवार समीर नलावडे विजयी हुए। उन्होंने बीजेपी-शिवसेना गठबंधन के उम्मीदवार संदेश पारकर को 37 मतों से हराया।

एनसीपी को झटका
रत्नागिरी जिले की गुहागर नगरपंचायत में एनसीपी नेता भास्कर जाधव को जोर का झटका लगा है। यहां की 17 सीटों में से भाजपा 6, एनसीपी 1, शिवसेना 1 और शहर विकास आघाडी (शविअ)ने 9 सीटें जीती। यहां पर शिवसेना ने शहर विकास आघाडी को समर्थन दिया था, जिसकी वजह से गुहागर में शहर विकास आघाडी की सत्ता स्थापित होगी।

laksh solution

leave a comment

Create Account



Log In Your Account